Saturday, 24/07/2021
Dark Mode

आर पी एफ द्वारा किये गए इस उत्कृष्ट कार्य के लिए रतलाम डीआरएम ने किया पुरस्कृत

आर पी एफ द्वारा किये गए इस उत्कृष्ट कार्य के लिए रतलाम डीआरएम ने किया  पुरस्कृत

दाहोद डेस्क ता. 07

रतलाम मंडल के इन्दोर से दिनांक 05.10.19 को आर पी एफ द्वारा खोये हुए दो बच्चों को दो घंटे के भीतर खोजकर उनके परिवार को सुरक्षित सौंप दिया गया था। आर पी एफ द्वारा किये गए इस उत्कृष्ट कार्य के लिए रतलाम मंडल के डीआरएम द्वारा पुरस्कृत किया गया।

मिली जानकारी अनुसार दिनांक 05.09.2019 के रोज एक एक नाबालिक लडका घर से भाग गया था.घर से गुम हुये नाबालीक लड़के खोजबीन करते हुए परिवारजनों ने रतलाम मंडल के इंदौर स्टेशन पर कार्यरत आर.पी एफ़ के थाने पर पहुच कर लड़के की खोजबीन करने हेतु मदद मांगने पर रतलाम मंडल के वरिष्ठ सुरक्षा आयुक्त के मार्गदर्शन में इन्दोर आर.पी.एफ़ की टीम द्वारा शाम को 4:00 बजे के बाद इंदौर से रवाना हुई ट्रेनों में सर्च ऑपरेशन शुरू किया गया था तकरीबन 2 घंटे की खोजबीन के बाद आरपीएफ के जवान को वह बच्चा इंदौर से मुंबई की ओर जाने वाली अवंतिका एक्सप्रेस में पाया गया तत्पश्चात उस बच्चे को महिला कॉन्स्टेबल ने दाहोद मे लड्के को उतारकर आर पी एफ़ की चोकी पर लाकर बच्चे के परिवारजनों से संपर्क कर उन्हें दाहोद आर पी एफ़ के कार्यालय पर बुलाकर जरूरी कागजी कार्रवाई कर बच्चे को अपने मां बाप को सौंप दिया गौरतलब हो कि कुछ दिन पहले भी एक 11 साल गुमशुदा बच्चे को रतलाम मंडल के थांदला रोड रेल्वे स्टेशन पर पाए जाने पर मेघनगर आरपीएफ ने बच्चे के परिजनों का पता लगाकर बच्चे के मां-बाप को मेघनगर आरपीएफ के थाने पर बुलाकर जरूरी कागजी कार्रवाई कर बच्चे को मां बाप को सौंप दिया गया था आरपीएफ द्वारा की गई सराहनीय कार्यवाही को ध्यान में रखते हुए रतलाम मंडल के डीआरएम ने उपरोक्त आरपीएफ के जवानों को कार्यालय पर बुलाकर उनकी उत्कृष्ट कार्यवाही के लिए पुरस्कृत भी किया गया गौरतलब हो कि रतलाम मंडल के आरपीएफ एवं चाइल्ड हेल्पलाइन की मदद से पिछले 2 सालों में अपने परिजनो से बिछड़े 327 जैसे बच्चों को अपने परिजनों से सुखद मिलन करवाया!

error: Content is protected !!